अनमोल बोलः अकीरा कुरोसावा, महान फिल्म डायरेक्टर

एक अभिनेता की सबसे खराब स्थिति यह हो सकती है जब वह कैमरे के प्रति अलर्ट होने लगता है। अक्सर ऐसा होता है कि ‘रोल’ की आवाज सुनते ही अभिनेता टेंशन में आ जाता है, पहले जहां वह देख रहा होता है, वहां से निगाहें हटा लेता है और बहुत अननेचुरल ढंग से अपने को प्रस्तुत कर देता है।

यह अलर्टनेस कैमरे की निगाह से नहीं बच पाती। मैं तो हमेशा यही कहता हूं, अपने साथ वाले एक्टर से बात करो। यह थिएटर नहीं जहां आपको अपने डायलॉग दर्शकों से कहने हैं। कैमरे की ओर देखने की जरूरत ही नहीं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here